बाज नहीं आ रहा है पाक, कर रहा है सीजफायर का उल्लंघन, एक अधिकारी समेत तीन जवान शहीद

जम्मू। पाक अपनी नापाक हरकतों से बाज नहीं आ रहा है। लगातार कर रहा है सीजफायर का उल्लंघन. जम्मू कश्मीर के राजौरी और पुंछ जिलों में नियंत्रण रेखा से लगते इलाकों में पाकिस्तान की ओर से की गई जबरदस्त गोलीबारी में सेना के एक अधिकारी और तीन जवान शहीद हो गए जबकि दो नाबालिग समेत चार लोग घायल हो गए. सेना के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि पाक सैनिकों ने राजौरी जिले के नियंत्रण रेखा से लगने वाली भीमभेर गली सेक्टर में आज शाम जबरदस्त गोलीबारी और बमबारी की. पाकिस्तान की ओर से एंटी टैंक गाइडेड मिसाइल का इस्तेमाल किया गया.
अधिकारी ने बताया पाक की तरफ से किये गए संघर्ष विराम उल्लंघन में तीन जवान शहीद हो गए. इस जबरदस्त गोलीबारी में घायल सेना के एक अधिकारी ने बाद में दम तोड़ दिया. उन्होंने बताया कि सेना ने भी पाक की इस गोलीबारी का मुंहतोड़ जवाब दिया है जिसके बाद दोनो तरफ से गोलीबारी जारी है.
इससे पहले दो फरवरी को जम्मू कश्मीर के पुंछ जिले में पाकिस्तानी सेना के संघर्ष विराम उल्लंघन और उनकी तरफ से की गयी गोलीबारी में 15 साल की एक किशोरी घायल हो गयी थी. पुलिस के एक अधिकारी ने बताया कि पाक सेना ने नियंत्रण रेखा पर शाहपुर सेक्टर के एक गांव में अग्रिम चौकियों को निशाना बनाया . इसके बाद दोनो तरफ से गोलीबारी शुरू हो गयी. उन्होंने बताया कि शाहपुर के इस्लामाबाद गांव की शहनाज बानो (15) इस गोलीबारी में घायल हो गयी और उसे अस्पताल में भर्ती कराया गया है.
पाकिस्तानी सैनिकों की तरफ से की जा रही गोलीबारी और गोलाबारी के मद्देनजर जम्मू कश्मीर के राजौरी जिले में नियंत्रण रेखा से पांच किलोमीटर के दायरे में स्थित सभी स्कूलों को अधिकारियों ने तीन दिनों के लिये बंद कर दिया है. राजौरी के उपायुक्त शाहिद इकबाल ने बताया, ‘नियंत्रण रेखा पर सुंदरबनी से मंजाकोट के बीच 0-5 किलोमीटर के भीतर स्थित सभी 84 स्कूल अगले तीन दिनों के लिये बंद रहेंगे.’ अधिकारियों ने बताया कि हालात बेहद तनावपूर्ण हैं क्योंकि पाकिस्तानी सैनिकों की तरफ से गोलीबारी और गोलाबारी चौबीसों घंटे चल रही है.
जम्मू कश्मीर के पुंछ और राजौरी जिले में नियंत्रण रेखा पर पाकिस्तान की ओर से की गई भारी गोलाबारी में सेना के एक अधिकारी और तीन जवान शहीद हो गए और दो किशोरों समेत चार लोग घायल हो गए. पाकिस्तानी सैनिकों की तरफ से की जा रही गोलीबारी और गोलाबारी की वजह से जनवरी में अंतरराष्ट्रीय सीमा और नियंत्रण रेखा से लगे पांच जिलों–जम्मू, सांबा, कठुआ, राजौरी और पुंछ में स्कूलों को एक पखवाड़े के लिये बंद कर दिया गया था.