नई दिल्ली। वित्तमंत्री अरुण जेटली ने आज बजट 2018-19 संसद में पेश किया. जेटली के बजट भाषण के दौरान कई बार पीएम मोदी ने मेज थपथपाकर बजट प्रावधानों का स्वागत किया था. बजट के बाद पीएम मोदी ने कहा कि यह बजट देश के विकास को गति देने वाला बजट है.
पीएम मोदी ने कहा कि मध्यम वर्ग के लिए ज्यादा सेविंग्स, बेहतर हेल्थ इंश्योरेंस का यह बजट है.
पीएम मोदी ने कहा कि किसानों ने खाद्यान्न और फल सब्जियों का रिकॉर्ड उत्पादन किया है.
उन्होंने कहा कि 14.5 लाख करोड़ रुपये का विशेष आवंटन किसानों के लिए किया गया है.
उन्होंने कहा 51 लाख नए घर, तीन लाख किलोमीटर से ज्यादा की सड़कें, बिजली कनेक्शन आदि का सीधा लाभ दलित, पीड़ित, शोषित लोगों को मिलेगा. उन्होंने कहा कि इससे नए रोजगारों का सृजन होगा.
किसानों एमएसपी का पूरा लाभ मिल सके, इसके लिए केंद्र सरकार राज्यों से चर्चा करके विस्तृत योजना तय करेगी.
उन्होंने कहा कि फल-सब्जियों का उत्पादन करने वाले किसानों को सीधा लाभ दिया जाएगा, इसकी योजना लागू की जा रही है. सरकार के कदमों से इन्हें लाभ मिलेगा. किसानों एमएसपी का पूरा लाभ मिल सके, इसके लिए केंद्र सरकार राज्यों से चर्चा करके विस्तृत योजना तय करेगी.
उन्होंने कहा कि फल-सब्जियों का उत्पादन करने वाले किसानों को सीधा लाभ दिया जाएगा, इसकी योजना लागू की जा रही है. सरकार के कदमों से इन्हें लाभ मिलेगा.
पीएम ने कहा कि देश अलग अलग जिलों में कृषि उत्पादों को ध्यान रखते हुए काम किया जा रहा है. देश के अलग अलग जिलों में एक क्लस्टर योजना बनाई जा रही है. इससे किसानों को सीधे लाभ मिलेगा.
कोआॅरेटिव सोसाइटी वाले लाभ किसानों को एफपीओ के जरिए उपलब्ध कराए जाएंगे. इनकम टैक्स में इसके जरिए छूट दी जाएगी.
उन्होंने कहा कि किसान क्रेडिट कार्ड का दायरा बढ़ाया गया है. इससे अब और प्रकार के लोन किसानों को मिलेंगे.
पीएम ने बजट में हेल्थ योजना के लागू किए जाने पर कहा कि यह दुनिया की सबसे बड़ी योजना है.
नरेंद्र मोदी ने कहा कि बजट से देश और विकास करेगा. उन्होंने इस बजट के लिए वित्तमंत्री अरुण जेटली और देशवासियों को बधाई दी.