फेडरर ने जीता 20वां ग्रैंड स्लैम

मेलबर्न। ग्रैंड स्लैम खिताबों के बादशाह स्विट्जरलैंड के रोजर फेडरर ने क्रोएशिया के मारिन सिलिच की चुनौती पर 6-2, 6-7, 6-3, 3-6, 6-1 से काबू पाते हुए आस्ट्रेलियन ओपन टेनिस का अपना खिताब बरकरार रखा। फेडरर का यह रिकॉर्ड छठा आस्ट्रेलियन ओपन और 20वां ग्रैंड स्लैम खिताब है। 36 वर्षीय फेडरर ने यह मुकाबला तीन घंटे 19 मिनट में जीता।फेडरर ने इस जीत से रॉय एमर्सन और नोवाक जोकोविच के सर्वाधिक छह- छह बार आस्ट्रेलियन ओपन खिताब जीतने के रिकॉर्ड की बराबरी भी कर ली है। उन्होंने इसके साथ ही रॉड लेवर के 30 साल की उम्र के बाद चार ग्रैंड स्लैम खिताब जीतने के रिकॉर्ड की भी बराबरी कर ली है। रॉड लेवर एरेना छत के नीचे खेले गए फाइनल में फेडरर ने पहला सेट मात्र 24 मिनट में जीत लिया। सिलिच ने दूसरे सेट का टाई ब्रेक 7-5 से जीतकर मैच में बराबरी कर ली। स्विस मास्टर ने तीसरा सेट 6-3 से जीता लेकिन चौथा सेट 3-6 से गंवा भी दिया। इसके बाद फेडरर ने अपना तमाम अनुभव झोंकते हुए निर्णायक सेट 6-1 से निपटा दिया।फेडरर ने छह बार आस्ट्रेलियन ओपन, एक बार फ्रेंच ओपन, आठ बार विम्बलडन और पांच बार यूएस ओपन के खिताब जीते हैं। सर्वाधिक ग्रैंड स्लैम जीतने वाले खिलाड़ियों में फेडरर-20 के बाद स्पेन के राफेल नडाल हैं जिन्होंने 16 खिताब जीते हैं। तीन घंटे से अधिक समय तक चले मुकाबले में दूसरी सीड फेडरर ने 24 एस और 41 विनर्स लगाए जबकि छठी सीड सिलिच ने 16 एस और 45 विनर्स लगाए। फेडरर ने 13 बार में से छह बार सिलिच की सर्विस तोड़ी जबकि क्रोएशियाई खिलाड़ी ने चैंपियन की नौ मौकों में दो बार सर्विस तोड़ी। फेडरर अपनी सर्विस पर अंक जीतने के मामले में सिलिच पर भारी पड़े।
उन्होंने पहली सर्विस पर 79 फीसदी और दूसरी सर्विस पर 58 फीसदी अंक बटोरे। सिलिच के लिए यह आंकड़ा 69 और 50 रहा। फेडरर ने निर्णायक सेट में दो बार सिलिच की सर्विस तोड़ कर उनका संघर्ष समाप्त कर दिया। अंतिम सेट में सिलिच ने काफी खराब सर्विस की। उनके पास दो बार फेडरर की सर्विस तोड़ने के मौके थे लेकिन स्विस दिग्गज दोनों बार अपनी सर्विस बचा गए।फेडरर ने पिछले साल भी सिलिच को विम्बलडन के फाइनल में हराया था। 29 वर्षीय सिलिच ने क्वार्टर फाइनल में विश्व के नंबर एक खिलाड़ी स्पेन के राफेल नडाल को पराजित किया था और यह उनका पहला आस्ट्रेलियन ओपन फाइनल था। अपना 20वां ग्रैंड स्लैम खिताब जीतने के बाद फेडरर ने नार्मन ब्रुक्स ट्रॉफी उठाते हुए कहा, ‘मैं बहुत खुश हूं, यह सब कुछ अविश्वसनीय है, मेरा स्वप्निल सफर जारी है और मेरे पास इसे बयां करने के लिए शब्द नहीं हैं।’ (एजेंसी)