जेल में फूल-पौधों की कटाई-छटाई करेंग : लालू यादव

पटना। चारा घोटाले में शनिवार को साढ़े तीन साल की जेल और 10 लाख रपए जुर्माने की सजा पाए लालू यादव को माली का काम करना होगा। रांची की बिरसा मुंडा जेल में लालू एक कैदी के रूप में जो काम करेंगे उन्हें उसका पैसा भी मिलेगा। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक लालू इस काम के एवज में रोजाना 93 रपए कमाएंगे।
सीबीआई के विशेष जज शिवपाल सिंह ने लालू समेत सभी 16 दोषियों को हजारीबाग की ओपन जेल में रखने की अनुशंसा की थी। जज ने कहा था कि इन्हें पशुपालन का अच्छा अनुभव है। इनमें पशु के डाक्टर भी शामिल हैं। सभी दोषी उम्रदराज भी हैं। ऐसे में ये लोग अपने परिवार के साथ हजारीबाग के ओपन जेल में रह सकते हैं। जज की अनुशंसा पर राज्य सरकार ने अभी तक कोई फैसला नहीं लिया है।
लालू यादव जेल में फूल-पौधों की कटाई-छटाई करेंगे। इसके लिए लालू को रोज 93 रपए मिलेंगे। जेल प्रशासन के मुताबिक, रविवार को लालू ने काम नहीं किया, वे सोमवार से काम शुरू करेंगे। लालू की बड़ी बहन का निधन : लालू यादव की बड़ी बहन गंगोत्री देवी का रविवार सुबह निधन हो गया। लालू के वकील ने उन्हें जेल में ये जानकारी दी। लालू के बेटे तेजस्वी यादव ने आशंका जताई कि रविवार होने और कानूनी प्रक्रि या के चलते उनके पिता को बहन के अंतिम संस्कार में शामिल होने के लिए समय पर पैरोल नहीं मिल पाएगा। मां राबड़ी और बड़े भाई तेज प्रताप के साथ बुआ के घर पर तेजस्वी ने कहा, अब हम उनके (बुआ) शव को उनके गांव ले जाने की व्यवस्था कर रहे हैं, जहां अंतिम संस्कार किया जाएगा। राबड़ी ने बताया कि गंगोत्री देवी लालू प्रसाद से लगभग चार साल बड़ी थी और पिछले कुछ समय से वह बीमार थीं। राबड़ी ने कहा, जब उन्हें पता चला कि राजद अध्यक्ष लंबे समय तक जेल चले गए हैं तो वह बहुत दुखी थीं और कल पूरे दिन वह अपने भाई की रिहाई के लिए प्राथर्ना करती रहीं।