एसआइटी ने गुरमीत के करीबियों से की हनीप्रीत के बारे में पूछताछ

सिरसा। डेरा सच्चा सौदा प्रमुख गुरमीत राम रहीम के खास और विश्वसनीय लोग हनीप्रीत के साथ हैं। उस तक पहुंचने के तमाम प्रयास विफल रहने के बाद एसआइटी ने गुरमीत के करीबियों से हनीप्रीत के बारे में पूछताछ की है। बताया जाता है कि गुरमीत के खास लोगों के साथ ही हनीप्रीत दिल्ली पहुंची और अग्रिम जमानत की कोशिश कर रही है। एसआइटी ने गुरमीत की बड़ी बेटी चरणप्रीत कौर से भी पूछताछ की है।
पुलिस को ढूंढने के लिए पुलिस जाल बिछाए बैठी रही और इधर से उधर दौड़ती रही। पिछले दिनों सूचना आई है कि हनीप्रीत गुरमीत के सबसे करीबी दो लोगों के साथ गुरुसर मोडिया पहुंची और वहां से निकल गई। इसके बाद से उसका बारे में पुलिस को कोई इनपुट नहीं मिला। इसके बाद अब उसके दिल्ली में अग्रिम जमानत के लिए लिए दिल्ली के लाजपतनगर में वकील के पास पहुंचने का ख्ुालासा हुआ है।
इससे पहले पंचकूला एसआइटी ने डेरा प्रमुख की बड़ी बेटी चरणप्रीत से भी हनीप्रीत के बारे में पूछताछ की। इस पूछताछ में कुछ तथ्य तो सामने आए, लेकिन यह पता नहीं चल पा रहा कि आखिर हनीप्रीत लापता है या फिर उसे गायब किया गया है। पुलिस सूत्रों के अनुसार, हनीप्रीत रोहतक से सिरसा में डेरा सच्चा सौदा में आई। डेरे से वह दूसरे दिन हनुमानगढ़ के लिए रवाना हो गई और वहां दो दिन रहने के बाद गुरुसर मोडिया पहुंच गई। यहां पेंच फंसा हुआ है कि उसे बाबा की बड़ी बेटी ने बुलाया या वह खुद आई थी।
चर्चा है कि गुरमीत की बड़ी बेटी चरणप्रीत ने उसे डेरा बुलाया और फिर उसे राम रहीम के दो विश्वासपात्र लोगों के साथ भेज दिया। चरणप्रीत ने एसआइटी के सामने बताया कि उसने हनीप्रीत को नहीं बुलाया और अगले दिन वह अपनी मर्जी से चली गई। दूसरा जिन दो लोगों के नाम सामने आ रहे हैं दोनों डेरा प्रमुख के अति विश्वासपात्र हैं और सिरसा से पंचकूला काफिले में भी वे उनके साथ गए थे। ये दोनों डेरे के कई काम देखते थे और साधु बताए गए हैं।
डेरा सच्चा सौदा चेयरपर्सन विपसना से पंचकूला एसआइटी पूछताछ करेगी। संभावना है कि उससे 27 सितंबर को पंचकूला पूछताछ होगी। इसके लिए एक दिन पहले ही एसआइटी सिरसा आई थी और एसआइटी ने विपसना को जांच में शामिल होने का नोटिस दिया है जो खुद चेयरपर्सन ने लिया है। पुलिस सूत्रों के अनुसार डेरा चेयरपर्सन को 17 को जांच में शामिल होने को कहा गया है। संभवत: 27 को ही वह जांच में शामिल होंगी। इससे पहले वह एक बार सिरसा की एसआइटी के सामने पेश हो चुकी है और सिरसा से जुड़े मामले में एसआइटी के प्रश्नों के उत्तर दे चुकी हैं। अब उनसे पंचकूला से जुड़े मामले पर पूछताछ की जाएगी।