स्मृति ने कहा,  मीडिया में कायदे कानून तय करने का समय

नई दिल्ली। सूचना एवं प्रसारण मंत्री स्मृति ईरानी ने बृहस्पतिवार को कहा कि मीडिया उद्योग में संतुलन बनाने के लिए नैतिक मूल्य और कायदे कानून तय करने का वक्त आ गया है, जिससे कोई एक कंपनी इस क्षेत्र में अपना आधिपत्य नहीं जमा सके।ईरानी ने यहां ‘‘15 वें एशिया सम्मेलन 2018’ का उद्घाटन करते हुए कहा कि भारत में 2022 तक 96 करोड़ 90 लाख इंटरनेट उपयोगकर्ता होंगे।

भारतीय मीडिया डद्योग को इस डिजिटल दुनिया को एक चुनौती के रूप में नहीं, बल्कि एक संभावना के तौर पर देखना चाहिए। केंद्रीय मंत्री ने मीडिया उद्योग से इस नई संभावना के लिए प्रतिभा विकसित करने और उसे बनाये रखने के लिए कहा ताकि अच्छी विषय वस्तु तैयार हो सके और राजस्व की जरूरत पूरी हो सके। उन्होंने कहा कि मीडिया उद्योग में संतुलन बनाया जाना चाहिए। बृहस्पतिवार से 12 मई तक चलने वाले इस सम्मेलन की मुख्य विषयवस्तु ‘‘टेलिंग ऑवर्स स्टोरीज- एशिया एंड मोर’ है। इससे क्षेत्र के प्रसारण क्षेत्र की चुनौतियों से निपटने में आपसी सहयोग को बढ़ावा देने तथा क्षेत्रीय एवं द्विपक्षीय संवाद को प्रोत्साहित करने में मदद मिलेगी। भारतीय मीडिया उद्योग का जिक्र करते हुए ईरानी ने कहा कि भारत का विज्ञापन बाजार तेजी से विकसित हो रहा है और इस वर्ष के अंत तक इसके 10.59 अरब डालर का हो जाने की संभावना है। भारतीय मीडिया उद्योग 1.35 लाख करोड़ रपए का है, जो प्रतिवर्ष 4.5 लाख करोड़ रपए का लाभ अर्जित करता है। इससे लगभग 40 लाख लोग जुड़े हुए हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *