श्री राम जन्मभूमि केस की जल्द सुनवाई पर सहमत है या नहीं

भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री अमित शाह ने आज अहमदाबाद स्थित भाजपा मीडिया सेंटर में पत्रकार वार्ता को संबोधित किया और श्री राम जन्मभूमि विषय पर कांग्रेस पार्टी से अपना स्टैंड स्पष्ट करने को कहा। उन्होंने कहा कि देश की जनता के सामने कांग्रेस पार्टी स्पष्ट करे कि वह श्री राम जन्मभूमि विषय की जल्द सुनवाई के पक्ष में या नहीं।

राष्ट्रीय अध्यक्ष ने कहा कि आज देश की सर्वोच्च अदालत में श्री राम जन्मभूमि मामले की सुनवाई शुरू हुई है। उन्होंने कहा कि समग्र देश की जनता का भाव ये है कि यह सुनवाई जल्द-से-जल्द समाप्त हो और सर्वोच्च न्यायालय का फैसला श्री राम जन्मभूमि के लिए जितना जल्द हो सके उतना जल्द देश और दुनिया के सामने आये। उन्होंने कहा कि कांग्रेस के हित में श्री सिब्बल ने एक बार सुनवाई से अपने आप को अलग करने की धमकी सर्वोच्च अदालत में दी थी। यह दर्शाता है कि श्री राम जन्मभूमि निर्माण को रोकने की दिशा में कांग्रेस की तीव्रता कितनी है।

श्री शाह ने कहा कि आज एक आश्चर्यजनक दलील कांग्रेस के नेता और ऑल इंडिया सुन्नी वक्फ बोर्ड के वकील श्री कपिल सिब्बल ने सर्वोच्च अदालत के सामने रखी है कि जुलाई 2019 तक अर्थात जब तक आगामी लोक सभा चुनाव संपन्न नहीं हो जाते, तब तक इस केस की सुनवाई टाल देनी चाहिए। उन्होंने कहा कि जब भी कांग्रेस किसी विवादित मुद्दे पर अलग प्रकार का स्टैंड लेना चाहती है, तब श्री कपिल सिब्बल को आगे कर देती है। उन्होंने कहा कि 2जी घोटाला हुआ तब भी जीरो लॉस की थ्योरी लेकर कपिल सिब्बल आगे आए थे, गुजरात में जब आरक्षण का मसला आया तब भी 50% से ज्यादा आरक्षण संभव है, ऐसा एक ओपिनियन लेकर कपिल सिब्बल आए और अब जब कांग्रेस को श्री राम जन्मभूमि केस के रास्ते में रोड़े अटकाने हैं, तब भी कपिल सिबल कांग्रेस पार्टी की ओर से सुन्नी वक्फ बोर्ड के वकील के रुप में आए हैं।

भाजपा अध्यक्ष ने कहा, हमारी मांग है कि कांग्रेस पार्टी को इस विषय पर अपना स्टैंड स्पष्ट करना चाहिए कि वह श्री राम जन्मभूमि केस की जल्द सुनवाई पर सहमत है या नहीं, या कांग्रेस पार्टी भी चाहती है कि 2019 के आम चुनाव तक श्री राम जन्मभूमि केस की सुनवाई ना हो।

श्री शाह ने कहा कि मैं समझ भी नहीं सकता कि जब सम्पूर्ण दस्तावेजों का अनुवाद हो चुका है और केस की सुनवाई तीन जज की बेंच करेगी, यह भी निर्णय आज कर दिया गया है तो सुनवाई को रोकने से क्या हासिल है? उन्होंने कहा कि यह सुनवाई जितनी जल्द होगी, इस देश की जनता को श्री राम जन्मभूमि मामले में सुप्रीम कोर्ट का स्टैंड भी उतनी ही जल्दी मालूम पड़ जाएगा।

राष्ट्रीय अध्यक्ष ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी मांग करती है कि कांग्रेस पार्टी इस विषय पर अपना अधिकृत स्टैंड स्पष्ट करे। उन्होंने कहा कि गुजरात में चुनाव चल रहे हैं, राहुल गांधी जोकि कांग्रेस के अध्यक्ष बनने वाले हैं, वे गुजरात में मंदिर-मंदिर जाकर अभी अपनी श्रद्धा व्यक्त कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि एक ओर गुजरात में राहुल गांधी के मंदिरों के चुनावी दौरे चल रहे हैं, वहीं दूसरी ओर श्री राम जन्मभूमि केस पर सुनवाई को टालने के लिए कपिल सिब्बल का उपयोग किया जा रहा है। उन्होंने कहा, मैं मानता हूं कि कांग्रेस पार्टी का दोहरे रवैया जनता के सामने उजागर हो गया है।

श्री शाह ने कहा कि मैं मीडिया के माध्यम से कांग्रेस के घोषित होने वाले अध्यक्ष श्री राहुल गांधी से अपील करना चाहूंगा कि वे स्वयं इस मुद्दे पर कांग्रेस पार्टी का स्टैंड स्पष्ट करें। भारतीय जनता पार्टी की मांग है कि जल्दी से जल्दी श्री राम जन्मभूमि केस की सुनवाई होनी चाहिए, सर्वोच्च अदालत का फैसला जल्द आना चाहिए और वहां पर एक भव्य राम मंदिर का निर्माण होना चाहिए।

courtesy By : http://www.bjp.org/en/media-resources/press-releases/

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *