लोकसभा चुनाव : कांग्रेस के गढ़ रायबरेली से लड़ सकते हैं अरुण जेटली!

लखनऊ। केन्द्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली आगामी लोकसभा चुनावों में पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के खिलाफ भाजपा उम्मीदवार हो सकते हैं। इन अटकलों को तब और बल मिला जब जेटली ने अपनी सांसद निधि का उपयोग कांग्रेस के गढ़ रायबरेली में करने का फैसला किया। जेटली फिलहाल उत्तर प्रदेश से राज्यसभा सांसद हैं और वह लोकसभा का पिछला चुनाव अमृतसर से लड़े थे। उस समय उन्हें कांग्रेस उम्मीदवार कैप्टन अमरिंदर सिंह के हाथों हार मिली थी। जेटली के आलोचक इसी बात को लेकर उन पर निशाना साधते रहे हैं कि वह पिछले दरवाजे से संसद पहुँचते रहे हैं और उनमें चुनाव जीतने की क्षमता नहीं है। लेकिन अब जेटली का ध्यान 2019 के लोकसभा चुनावों पर लग गया है। भाजपा भी सोनिया गांधी को उनके गढ़ में घेरने के लिए बेताब नजर आ रही है।

जेटली के प्रतिनिधि एवं उत्तर प्रदेश भाजपा के प्रवक्ता हीरो बाजपेयी ने कहा, ‘‘केन्द्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली सांसद निधि का पैसा रायबरेली में खर्च करेंगे। वह उत्तर प्रदेश से राज्यसभा सांसद हैं।’ उन्होंने कहा कि जेटली ने करीब महीने भर पहले रायबरेली को चुना था। जिले का प्रतिनिधित्व एक प्रख्यात राजनीतिक परिवार करता आया है लेकिन फिर भी यह अत्यंत पिछड़ा है और शायद यही वजह है कि जेटली ने इस जिले को चुना है। बाजपेयी ने बताया कि नवंबर के पहले या दूसरे सप्ताह जेटली रायबरेली दौरे पर आ सकते हैं। उन्होंने कहा कि जिले के लोग स्टेडियम, विश्वविद्यालय, सौर लाइट और सौर ऊर्जा से चलने वाले पंप की मांग कर रहे हैं। इन मांगों को पूरा करने का प्रयास किया जाएगा ताकि जनता को राहत मिल सके। बाजपेयी ने कहा कि रायबरेली अंधेरे में रहा है क्योंकि कांग्रेस शासन के समय यहां विकास नहीं हुआ लेकिन अब यहां विकास की किरण आती दिख रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *