रास चुनाव : एनडी गुप्ता को चुनाव आयोग से राहत

नई दिल्ली। राज्यसभा के लिए आम आदमी पार्टी की तरफ से अपनी उम्मीदवारी पर सवालों पर रहे एनडी गुप्ता को लेकर चुनाव आयोग से राहत मिली है. चुनाव आयोग के रिटर्निंग आॅफिसर ने कांग्रेस की शिकायत खारिज कर दी है. इससे एनडी गुप्ता को राज्यसभा सदस्य बनने का रास्ता साफ हो गया है.
चुनाव आयोग के फैसले के बाद एनडी गुप्ता ने कहा कि मेरे लिए अजय माकन ने अपशब्द कहे और उनको ऐसा नहीं कहना चाहिए था. वहीं संजय सिंह ने कहा कि बेबुनियद शिकायत अजय माकन की ओर से की गई. एनडी गुप्ता किसी भी लाभ के पद पर नहीं थे और यह सब कुछ सस्ती लोकप्रियता के लिए किया गया. इस शिकायत से साबित होता है कि कांग्रेस मानसिक दिवालियापन से गुजर रही है. उन्होंने कहा कि कुमार विश्वास से कोई भी बातचीत मीडिया के माध्यम से नहीं की जाएगी हम उनसे बात करेंगे.
दरअसल कांग्रेस नेता अजय माकन की तरफ़ से लगाए गए आरोपों के बाद रिटर्निंग आॅफिसर ने दो मुद्दों पर एनडी गुप्ता से सफाई मांगी थी. वहीं इस मामले पर संजय सिंह ने कहा था कि सस्ती लोकप्रियता के लिए अजय माकन ने आप उम्मीदवार एनडी गुप्ता के खिलाफ शिकायत की है. उनके आरोपों में दम नहीं है. उन्होंने चुनाव आयोग को अपना जवाब दे दिया है. जल्द ही सकारात्मक परिणाम आएगा.
गुप्ता से चुनाव आयोग ने ये पूछा था कि क्या वो नेशनल पेंशन सिस्टम ट्रस्ट के ट्रस्टी हैं, जो कि लाभ का पद है. इसके अलावा उनसे ये भी पूछा गया था कि नेशनल पेंशन सिस्टम ट्रस्ट की आॅडिट कमेटी के चेयरमैन है जिनका कुल फंड क़रीब 1.75 लाख करोड़ रुपये है.
एनडी गुप्ता से आयोग ने पूछे थे ये सवाल
1. एन डी गुप्ता नेशनल पेंशन सिस्टम ट्रस्ट के ट्रस्टी हैं जो कि लाभ का पद है.
2. एन डी गुप्ता नेशनल पेंशन सिस्टम ट्रस्ट की आॅडिट कमिटी के चेयरमैन हैं जिसका कुल फण्ड करीब 1.75 लाख करोड़ रुपये हैं.
एन डी गुप्ता ने दिए थे ये जवाब
1. NPS के ट्रस्टी का पद लाभ का पद नहीं
2. इस पद से 29 दिसंबर को दिया इस्तीफ़ा
3. आॅडिट कमिटी के चेयरमैन का पद ट्रस्टी के नाते था,जब उस पद से इस्तीफ़ा ही दे दिया तो इस पद का मतलब ही नहीं.
आपको बता दें कि अजय माकन ने आम आदमी पार्टी (आप) को शुक्रवार को ह्यभाजपा की बी टीमह्ण करार दिया था और दावा किया कि एन डी गुप्ता को एक केंद्रीय मंत्री से उनकी ह्यनजदीकियोंह्ण की वजह से पार्टी ने राज्यसभा चुनाव के लिये अपने तीन प्रत्याशियों में से एक के तौर पर नामित किया था.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *