म्यांमार से रोहिंग्या मुस्लिमों के पलायन का सिलसिला थम नहीं रहा, नाव पलटने से 12 की मौत

कॉक्स बाजार (बांग्लादेश)। 25 अगस्त को शुरू हुई हिंसा के बाद म्यांमार से रोहिंग्या मुसलमानों के पलायन का सिलसिला रुका नहीं है। रविवार देर रात रोहिंग्या मुसलमानों को लेकर बांग्लादेश आ रही नाव पलट गई जिससे उसमें सवार लोगों में से 12 डूब गए। डूबने वालों में ज्यादातर बच्चे हैं। यह नाव करीब 35 लोगों को लेकर म्यांमार से बांग्लादेश आ रही थी।
बीते डेढ़ महीने में म्यांमार से भागकर पांच लाख से ज्यादा रोहिंग्या मुसलमान बांग्लादेश आ चुके हैं। बांग्लादेश के तटरक्षकों ने चंद रोज पहले ही रोहिंग्या मुसलमानों को लाने वाली कुछ नावें तोड़ डाली थीं लेकिन शरणाथिर्यों की आमद नहीं रुकी है। 25 अगस्त से पूर्व और उसके बाद बांग्लादेश आए रोहिंग्या मुसलमानों की संख्या करीब साढ़े लाख पहुंच चुकी है।
प्रधानमंत्री शेख हसीना ने रोहिंग्या समस्या के चलते म्यांमार के साथ युद्ध की आशंका भी जताई है। नाव हादसा शाह पोरीर द्वीप के नजदीक रविवार देर रात हुआ। उस समय एक बांग्लादेशी मछुआरा अपनी नाव से गुपचुप तरीके से रोहिंग्या मुसलमानों को लेकर आ रहा था, तभी संतुलन बिगड़ने से नाव पलट गई। हादसे की जानकारी मिलने पर चलाए गए बचाव अभियान के दौरान 12 शव बरामद किए गए हैं। ये शव दस बच्चों, एक महिला और एक पुरुष के हैं। 13 लोगों को बचा लिया गया है जबकि बाकी के लापता हैं। पिछले हफ्ते भी शरणाथिर्यों को लेकर आ रही एक नाव डूबी थी जिसमें 60 लोगों के मारे जाने की आशंका है। अमेरिका ने इलाके के रोहिंग्या संकट को गंभीर बताया है। इससे समूचे दक्षिण एशिया के हालात बिगड़ने की आशंका जताई है। (एजेंसी)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *