दो भाइयों रऊफ असगर और अतहर इब्राहिम के बीच बांट दिया आतंकी मसूद अजहर ने अपना संगठन

इस्लामाबाद। पाकिस्तान के आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद के मुखिया मसूद अजहर को गंभीर बीमारी की वजह से जान का खतरा बताया गया है। डॉक्टरों ने अजहर को पूरी तरह आराम करने की सलाह दी है। मीडिया रिपोर्ट्स का कहना है कि ऐसे में अजहर ने अपने संगठनों को अपने दो भाइयों रऊफ असगर और अतहर इब्राहिम के बीच बांट दिया है। बताया जा रहा है कि अजहर रीढ़ की हड्डी और किडनी से जुड़ी एक गंभीर बीमारी से जूझ रहा है।

खुफिया विभाग के एक अधिकारी ने नाम न छापने की शर्त पर बताया कि अजहर को रीढ़ की हड्डी और गुर्दे के इलाज के लिए रावलपिंडी के कंबाइंड मिलिटरी हॉस्पिटल में भेजा जाएगा। इसके बाद करीब एक से डेढ़ साल तक अजहर को पूरी तरह बिस्तर पर आराम करना होगा। भारत के राजनयिक ने एक अखबार से बातचीत में कहा कि अजहर की बीमारी को लेकर उनके पास कोई जानकारी नहीं है। उन्होंने बताया कि संयुक्त राष्ट्र द्वारा प्रतिबंधित इस वैश्विक आंतकी को चीन द्वारा ब्लॉक किया गया है। ऐसे में पिछले कुछ दिनों से न तो वह किसी आम सभी में दिखा है और न ही अपने शहर भावलपुर में दिखा है।

जानकारों का कहना है कि इससे भारत का काम और आसान हो जाता है। अजहर को वैश्विक आतंकी वाली बात पर चीन हमेशा से ही रोड़े अटकाता रहा है। अब भारत को इसके लिए चीन से रियायत की कोई जरूरत नहीं है क्योंकि आतंकी तो खुद कई बीमारियों से पीड़ित हो चुका है। बता दें कि मसूद अजहर 2001 में संसद पर हुए हमले, 2005 में अयोध्या पर हुए हमले और 2016 को पठानकोट एयरबेस पर हुए हमले का जिम्मेदार है। मसूद का भाई रऊफ जम्मू कश्मीर में कई घटनाओं को अंजाम देने में अहम भूमिका निभा चुका है। इसके अलावा दूसरा भाई अतहर बलूचिस्तान और अफगानिस्तान में आतंकी वारदातों को अंजाम देता है।(एजेंसियां)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *