दिल्ली से आगरा के बीच अगले साल एयरोबोट से सफर हो सकता है शुरू

नई दिल्ली। अगर सड़क परिवहन मंत्री नितिन गडकरी का दावा सही निकला तो अगले साल दिल्ली से आगरा के बीच यमुना में एयरोबोट से सफर शुरू हो सकता है। गडकरी का कहना है कि सरकार पब्लिक ट्रांसपॉर्ट को बढ़ावा देने पर कार्य कर रही है और चाहती है कि लोग निजी वाहनों की बजाय पब्लिक ट्रांसपॉर्ट का उपयोग कंरे। उन्होंने यह भी कहा कि सरकार पहाड़ी इलाकों में पब्लिक ट्रांसपॉर्ट के लिए केबल कार और नदियों में हाईब्रिड एयरोबोट की संभावनाओं को भी खंगाल रही है।

गडकरी ने कहा कि सरकार जिस हाईब्रिड एयरोबोट की संभावनाएं देख रही है, वह न सिर्फ सड़क पर पानी में भी 80 किलोमीटर की रफ्तार से दौड़ सकती है। उन्होंने कहा कि उनका प्रयास होगा कि अगले साल इसका उपयोग न सिर्फ कुंभ मेले के दौरान हो बल्कि उसे दिल्ली से आगरा के बीच भी चलाया जाए। उनकी कोशिश होगी कि दिल्ली आगरा के बीच इसकी शुरुआत अगले साल जनवरी में ही हो जाए।

सूत्रों का कहना है कि इस तरह की एयरबोट के लिए रूस की एक कंपनी ने मंत्रालय को इस बोट के बारे में जानकारी दी। बैठक में बताया गया कि यह बोट ऐसी है, जिसमें 10 से 24 लोग आ सकते हैं। इसकी स्पीड 80 किलोमीटर से लेकर 170 किलोमीटर प्रति घंटे तक हो सकती है। यही नहीं, ये ऐसी एयरोबोट होगी, जिसे 15 मिनट में ही जोड़ा जा सकेगा और यह जमीन, पानी और बर्फ पर भी चल सकती है। इसे बिजली, पेट्रोल और मेथनॉल से भी चलाया जा सकता है। इस तरह की बोट पीटरबर्ग में बड़ी संख्या में चलती हैं लेकिन अब तक किसी तरह की कोई बड़ी दिक्कत इसमें नहीं देखी गई।

उन्होंने कहा कि प्राइवेट कारों को कम करने के लिए जरूरी है कि दिल्ली जयपुर, पुणे मुंबई जैसे रूटों पर डबल डेकर एसी बसें चलायी जाएं ताकि लोग उनका उपयोग करें। सरकार जल्द ही साइकल को बढ़ावा देने के लिए भी अभियान शुरू करने जा रही है। इसके लिए जो भी एक्सप्रेस वे का निर्माण हो रहा है, वहां साइकल लेन का निर्माण भी किया जाएगा। इसके अलावा सरकार चाहती है कि जल्द ही इलेक्ट्रिक साइकल भी सड़कों पर आए।

गडकरी ने पहला इज आफ मोबिल्टी इंडेक्स 2018 भी जारी किया गया। इस रिपोर्ट को ओला मोबिलिटी इंस्टिटयूट ने तैयार किया है। गडकरी ने इस मौके पर कहा कि जब से ऐप टैक्सी के लिए सरकार ने गाइडलाइंस तैयार की हैं, तब से शेयर टैक्सी बढ़ी है और उन्हें उम्मीद है कि जल्द ही इसमें और इजाफा होगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *