डूसू चुनाव : एबीवीपी ने तीन सीटों पर परचम लहराया

नई दिल्ली। दिल्ली विविद्यालय छात्र संघ (डूसू) चुनाव की मतगणना में दिनभर चले हंगामे के बाद देर रात तक चली मतगणना में एबीवीपी ने तीन सीटों पर परचम लहराया, जबकि एनएसयूआई के पाले में केवल एक ही सीट आई। डूसू चुनाव में मोदी इम्पेक्ट इस बार बढ़कर सामने आया है। एबीवीपी ने तीन सीटों अध्यक्ष, उपाध्यक्ष व संयुक्त सचिव पद पर जीत हासिल की। उधर एनएनएसयूआई के राष्ट्रीय अध्यक्ष फिरोज खान ने मतगणना में धांधली किये जाने का आरोप लगाया है।

देर रात जारी हुए डूसू चुनाव के नतीजों में अध्यक्ष सीट पर एबीवीपी के अंकिव बसोया 20,467, उपाध्यक्ष सीट पर शक्ति सिंह 23,046 और संयुक्त सचिव सीट पर ज्योति चौधरी ने 19,353 मत हासिल कर जीत हासिल किया। नतीजों में जहां एबीवीपी के अंकिव बसोया ने एनएसयूआई के सन्नी छिल्लड़ को 1744 मतों के अंतर से हराया। सन्नी को कुल 18723 वोट हासिल हुए। इसी प्रकार उपाध्यक्ष सीट पर शक्ति सिंह ने एनएसयूआई की लीना को 8046 मतों से हराया, लीना को कुल 15000 मत हासिल हुए हैं। सचिव सीट पर एनएसयूआई के आकाश चौधरी ने एबीवीपी के सुधीर डेढ़ा को 6089 मतों से शिकस्त दी है। सुधीर को कुल 14109 मत हासिल हुए। इसी प्रकार संयुक्त सचिव सीट पर एबीवीपी की ज्योति चौधरी ने एनएसयूआई के सौरभ यादव को 4972 मतों से हराया।

सौरभ को कुल 14381 वोट मिले। वहीं चुनाव में आइसा-सीवाईएसएस के साझा पैनल एक भी सीट हासिल नहीं कर पाई।उल्लेखनीय है कि बीते साल चुनाव में एनएसयूआई ने अध्यक्ष व उपाध्यक्ष सीट पर जीत हासिल की थी और बाकी सचिव व संयुक्त सचिव सीट पर एबीवीपी ने जीत हासिल की थी। जिससे एबीवीपी का कद कम हो गया था, लेकिन इस बार एबीवीपी का कद बीते साल की तुलना में बढ़ गया है। फिरोज खान ने कहा कि ईवीएम में धांधली किये जाने का असरआज दिखा । यही कारण है कि डूसू चुनाव के जो नतीजे आज तक दोपहर बारह बजे तक जारी कर दिया जाते थे, उसे देर रात तक जारी किया गया है। इसको लेकर हम लोग जल्द कोई फैसला लेंगे। उधर, एबीवीपी की राष्ट्रीय मीडिया संयोजक मोनिका चौधरी ने इस जीत को डीयू के विद्यार्थियों की जीत बताया। उन्होंने कहा कि अब डूसू में आने के बाद हमने जो वादे अपने घोषणापत्र में किये थे, उसे पूरा करेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *