एसआरएम यूनिवसिर्टी एपी-अमरावती ने की स्कूल आॅफ लिबरल आर्ट्स ऐण्ड बेसिक सांइस की स्थापना

2018 से 12 विभागों में उपलब्ध होंगे बीए, बीबीए, बीकॉम, बीएससी कोर्स

एसआरएम यूनिवसिर्टी के अध्यक्ष डॉ.पी. सत्यनारायणन ने अमरावती स्थित अपनी यूनिवसिर्टी में स्कूल आॅफ लिबरल आर्ट्स ऐण्ड बेसिक साइंस (स्लैब्स) की स्थापना की धोषणा की। उन्होेंने बताया कि स्लैब्स में 2018 सत्र से 12 विभागों – अथर्शास्त्र, अंग्रेजी, इतिहास, पत्रकारिता, मनोविज्ञान, व्यवसाय अध्ययन, कामर्स , भौतिक विज्ञान, रसायन विज्ञान, गणित, जीव विज्ञान और कम्प्यूटर विज्ञान में बीए, बीबीए, बीकॉम, बीएससी के पाठ्यक्रम उपलब्ध होंगे। इस मौके पर एसआरएम यूनिवसिर्टी एपी-अमरावती के मानद प्रा.े-चांसलर प्रो. निकोलस डर्क्स( यूनिवसिर्टी आॅफ कैलिफोनिर्या, बकर्ले के मानद चांसलर), और एसआरएम यूनिवसिर्टी एपी-अमरावती के मानद प्रो-वाइस चांसलर डॉ. डी. नारायण राव भी मौजूद थे।
स्कूल आॅफ लिबरल आर्ट्स ऐण्ड बेसिक साइंस(स्लैब्स) एसआरएम यूनिवसिर्टी अमरावती में स्वतंत्र, मुक्त और आलोचनात्मक अनुसंधान का ऐसा मंच होगा, जहां दुनिया के सर्वाधिक चुनौतीपूर्ण सवालों और कठिन मुद्दों के जवाब और हल तलाशे जायेंगे। स्लैब्स की स्थापना की धोषणा करते हुए डॉ.पी. सत्यनारायणन ने कहा कि आज हम जटिल चुनौतियों और समस्याओं से जूझ रहे हैं, जिनसे पार पाने के लिए बहुआयामी चिन्तन प्रक्रिया और समस्या सुलझाने के कौशल की जरूरत होती हैं। शिक्षा को इस पर केन्द्रित करना होगा। हमारा उद्देश्य यह है कि एसआरएम स्लैब्स में लिबरल आर्ट्स और बेसिक साइंस पाठ्यक्रमों के जरिये दी जाने वाली शिक्षा विघाथिर्यों में ऐसे कौशल के विकास में मदद करेगी। लिबरल आर्ट्स में समृद्ध पृष्ठभूमि को देखते हुए प्रसिट्ट मानव विज्ञानी प्रो निकोलस डर्क्स से इस मामले में बहुत मदद मिलेगी। एसआरएम के अपने शिक्षक भी अन्तरराष्ट्रज्ीय स्तर के हैं, जो लिबरल आर्ट्स शिक्षा को नये आयाम प्रदान करेंगे । वे शिक्षा के प्रति समग्र दृष्टिकोण पैदा करने में सहायक होगें, जो एसआरएम यूनिवसिर्टी एपी, अमरावती की पहचान बनेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *