उत्तर भारतीयों पर हुए हमलों को गंभीरता से लेते हुए बिहार सीएम नीतीश कुमार ने गुजरात के मुख्यमंत्री से बात की

अहमदाबाद। गुजरात में उत्तर भारतीयों पर हुए हमले की घटनाओं के बाद घर वापस लौट रहे उत्तर भारतीयों को लेकर हालात गंभीर हो चले हैं। इन हमलों को लेकर बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने गुजरात सीएम विजय रूपाणी से बात की। वहीं, गुजरात के गृह मंत्री प्रदीप जडेजा भी ऐसे मामलों पर सरकार का पक्ष रखने सामने आए। उन्होंने कहा कि कुछ लोग जो चुनावों में जीत नहीं पाए हैं, वह हिंसा फैलाने का काम कर रहे हैं।  उत्तर भारतीयों के हमलों के डर से घर वापस लौटने के मामले को गंभीरता से लेते हुए बिहार सीएम नीतीश कुमार से गुजरात के मुख्यमंत्री से बात की। नीतीश कुमार ने कहा, ‘मैंने कल (रविवार) गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रुपाणी से बात की। हम उनसे संपर्क में हैं और वह हालात पर नजर रख रहे हैं। जिन्होंने हमले किए हैं उन्हें सजा मिलनी चाहिए और किसी तरह का भेदभाव नहीं होना चाहिए।’

इधर, गुजरात के गृहमंत्री प्रदीप जडेजा ने गुजरात सरकार का पक्ष रखते हुए कहा कि मामले पर सरकार गंभीर है और गिरफ्तार लोगों की जांच की जा रही है। उन्होंने कहा, ‘मामले में 450 से ज्यादा लोग गिरफ्तार किए गए हैं। राज्य के डीजीपी खुद स्थिति पर नजर बनाए हुए हैं और एसपी, डीएम के साथ तालमेल बनाए हुए हैं। साथ ही पुलिस भी लगाई गई है। गुजरात के लोगों ने जिनको नकारा है, वह किसी भी हद तक जा सकते हैं।’

राज्य के गृहमंत्री ने राज्य छोड़कर जा रहे उत्तर भारतीयों से भी भरोसा रखने की अपील की। उन्होंने कहा, ‘हम हालात पर नजर रख रहे हैं और राज्य के हर जिले में एसपी इसपर नजर रख रहे हैं। हमारा कमिटमेंट है कि गुजरात के अंदर इस तरह के कोई हमले नहीं होने देंगे। आप गुजरात मत छोड़िए। गुजरात में आपकी सुरक्षा हमारा जिम्मा है, वह हम आपको हर हालात में मुहैया कराएंगे।’

रिपोर्ट्स के मुताबिक हिंसा के डर से उत्तर प्रदेश और बिहार समेत अन्य सूबे से काम करने गुजरात आए लोग भारी संख्या में अपने गृहराज्यों में वापस लौट रहे हैं। हालांकि, डीजीपी का कहना है कि त्योहारों की वजह से लोग अपने गृहराज्य में जा रहे हैं। गुजरात से बाहरी लोगों पर हिंसा के इन मामलों में कुल 6 जिले प्रभावित हुए हैं। मेहसाणा और साबरकांठा जिले सबसे अधिक प्रभावित हैं।

मेहसाणा में 15 केस दर्ज हुए हैं जिसके तहत 89 लोगों को गिरफ्तार किया गया है। साबरकांठा में 11 केस दर्ज हुए हैं जबकि 95 लोगों को गिरफ्तार किया गया है। डीजीपी के मुताबिक इन दो जिलों के अलावा अहमदाबाद में 7 केस और 73 गिरफ्तारी, गांधीनगर में 3 केस और 27 गिरफ्तारी, अहमदाबाद ग्रामीण में 3 केस और 36 गिरफ्तारी, अरावली में 2 केस और 20 गिरफ्तारी व सुरेंद्रनगर में एक केस और दो गिरफ्तारी हुई है। सोशल मीडिया पर नफरत फैलाने वाली और भड़काऊ पोस्ट करने के आरोप में 6 लोगों को गिरफ्तार किया गया है।

बता दें कि बीते 28 सितंबर को एक बच्ची के साथ कथित रूप से बलात्कार करने के आरोप में बिहार के एक युवक को गिरफ्तार किया गया था। इसके बाद से ही गैर-गुजरातियों को निशाना बनाया गया और सोशल मीडिया पर नफरती संदेश फैलाए गए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *