अंकित की शोकसभा से उठकर चले गए मुख्यमंत्री, परिजन करते रहे मुआवजे की मांग

नई दिल्ली। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल सोमवार को मृतक अंकित सक्सेना के घरवालों से मिले। अल्पसंख्यक समुदाय की एक लड़की से प्रेम संबंधों की वजह से अंकित की कुछ दिन पहले हत्या कर दी गई थी। सीएम अंकित की याद में आयोजित शोकसभा में शामिल हुए और उन्होंने दिल्ली सरकार की ओर से हर मुमकिन मदद देने का एलान किया। केजरीवाल ने कहा कि उनकी सरकार अंकित के परिवार को पूरी मदद देने की अपनी जिम्मेदारी को लेकर कटिबद्ध है। केजरीवाल ने शोकसभा में कहा, ‘जब भी आपको (सक्सेना परिवार को) जरूरत हो, मेरे पास आने में संकोच नहीं करें। मैं आपके साथ निजी तौर पर संपर्क में रहूंगा।’ हालांकि, केजरीवाल के धुर विरोधी और आप के बागी विधायक कपिल मिश्रा ने एक वीडियो ट्वीट करके सीएम पर निशाना साधा है। मिश्रा ने आरोप लगाया है कि केजरीवाल ने धार्मिक आधार पर फैसला लेते हुए मृत एनडीएमसी अधिकारी एमएम खान और एनआईए अफसर तंजील अहमद के परिवार को 1 करोड़ रुपए का मुआवजा दिया था। वहीं, अंकित के घरवालों ने जब मुआवजे की बात की तो वह मौके से उठकर चल दिए।
कपिल का आरोप है कि केजरीवाल ने अंकित सक्सेना के परिवार का अपमान किया। कपिल ने जो वीडियो शेयर किया है, उसमें केजरीवाल मुआवजा देने से जुड़ा सवाल सुनने के बाद उठकर जाते दिखाई देते हैं। कपिल का दावा है कि पीछे से आवाज लगाने के बावजूद केजरीवाल नहीं रुकते। वीडियो में दिखता है कि जब केजरीवाल से मुआवजे के बारे में पूछा जाता है तो वह कहते हैं, ‘मैं नहीं चाहता कि राशि को लेकर यहां कोई विवाद हो।’ इसके बाद केजरीवाल वहां से जाने लगते हैं। उनके सामने जो शख्स बैठा है, वह पूछता है कि परिवार का गुजर-बसर कैसे होगा। केजरीवाल बिना उसकी बात सुने ही वहां से जाते हुए दिखाई देते हैं। सीएम को रोकने के लिए एक शख्स पीछे से आवाज लगाता है, ‘मिस्टर केजरीवाल’। हालांकि, इसके बावजूद वह नहीं रुकते।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *